सास बहू के झगड़े दूर करने के उपाय

[Total: 1    Average: 5/5]

सास बहू के झगड़े दूर करने के उपाय

सास बहू के झगड़े दूर करने के उपाय, सास और बहू के रिश्ते में अक्सर तनाव का माहौल रहता है। खींचतान होती रहती है। उनके बीच नोक-झांके चलता रहता है। कई बार छोटी-छोटी बातों से तनातनी की स्थिति बन जाती है।

मामला शिकवे-शिकायत तक चला जाता है और घर का वातावरण अशांत बन जाता है। इसे दूर करने के लिए कई उपाए बताए गए हैं, जिन्हें दोनों अपने-अपने लिए कर सकती हैं।

सास बहू के झगड़े दूर करने के उपाय
सास बहू के झगड़े दूर करने के उपाय

इन उपायों की मूल बात उनके बीच एक-दूसरे के प्रति आकर्षण की भावना जागृत करना या वशीकरण है। हिंदू धर्म के शास्त्रों के अनुसार जब किसी सुहागिन स्त्री का निधन होता है तब उसे वैतरणी पार करवाने के लिए उनकी सास और सास की सास ही आती है और स्वर्ग की राह आसान बनाती है।

इस कारण हर विवाहिता को अपनी सास के साथ अच्छे कर्म करने और बर्ताव करने की सलाह दी गई है। उन्हें एक-दूसरे में खामियों को निकालने के बजाय आपसी समस्याओं को सुलझाने चाहिए।  

सास बहू के झगड़े दूर करने के टोटके

सास-बहू के बीच के झगड़े या आपसी तना-तनी को कुछ साधारण टोटके से भी दूर किया जा सकता है। इसे कोई भी अपना सकती है बहू की नजर में कर्कशा सास या फिर सास की निगाह में वाचाल और अपनी मनमानी करने वाली बहू। नीचे दिए गए उपायों से सास-बहू के झगड़े खत्म हो जाते हैं और उनके बीच हमेशा प्रेम बना रहता है।

  • अगर किसी स्त्री को छोटी-छोटी घरेलू बातों पर अक्सर अपनी सास से डांट सुननी पड़ती है। जिससे झगड़े का माहौल बन जाता है, तो इस स्थिति में बहू को चाहिए कि वह सास के सामने माथे पर हर रोज केसर या हल्दी की बिंदी लगाकर जाए। तिलकनुमा इस   बिंदी के लगाने की शुरूआत शुक्ल पक्ष़्ा के पहले बृहस्पतिवार से करना चाहिए। 
  • अगर सास को लगता है कि उसकी बातों को बहू अनदेखी करती है। उसे इज्जत नहीं देती है। या फिर झगड़ने पर उतारू हो जाती है, तो सास को बहू के अपने गले में चांदी की चेन पहन कर सामने जाना चाहिए।
  • बहू यदि 12 लाल और 12 हरी चूड़ियां अपनी सास को भेंट करे तो इससे उनके सास के साथ मधुर संबंध बन जाते हैं।
  • घरेलू बातावरण अनुकूल बनाने के लिए सास या बहू को चाहिए कि वे प्रत्येक मंगलवार को मंदिर के बाहर बैठे गरीबों को सूजी का हलवा बांटंे। यदि इस काम को दोनों मिलकर करें तों उनके बीच पनपने वाला बेवजह तनाव खत्म हो जाता है। एक और छोटी से हिदायत यह कि दोनों एक-दूसरे को खाने की सफेद वस्तु की लेन-देन नहीं करें।
  • सास-बहू अपने बीच संबंध को मधुर बनाए रखने के लिए चांदी का चैकोर टुकड़ा अपने पास रखें। इस आकार की बगैर नग की अंगूठी या लाॅकेट हो सकता है।
  • सूर्योदय से पहले उठकर बहू द्वारा घर में झाड़ू लगाना चाहिए। घर की साफ-सफाई से संबंधित इस काम को दोनों के द्वारा बारी-बारी से किया जाना चाहिए।  
  • बहू के द्वारा सुबह शीघ्र उठकर भगवान सूर्य को गुड़ मिला जल अर्पित करना चाहिए। इस दौरान ऊँ सूर्याय नमः! बोलना चाहिए। अंत में कम से कम तीन बार गायत्री मंत्र का जाप अवश्य कर लेना चाहिए।
  • सास-बहू के बीच हमेशा झगड़ा होने की स्थिति में बहू को चाहिए कि वह मंदिर में देवी दुर्गा या गौरी को सुनहरे लाल रंग की साड़ी अर्पित करे। उसके बाद वही साड़ी अपनी सास को भेंट कर दे।
  • सास-बहू के बीच हमेशा झगड़ा होने की स्थिति में फेंगशुई का तरीका अपनाते हुए दोनों की हंसते हुए एक तस्वीर फ्रेमकर घर के मुख्य हिस्से में टांग दें। वास्तु शास्त्र के अनुसार इसे घर के नैऋत्व कोण यानी पश्चिम दिशा में लगाएं। फ्रेम लाल रंग का होना चाहिए।
  • घर में चंदन की कोई मूर्ति ऐसी जहग रखें जहां सबकी निगाह जाए। इससे सास-बहू के बीच मधुरता कायम होती है।
  • अगर कोई झगड़ालू सास या झगड़ालू बहु हो, तो इनका सिरहाना कभी भी पूर्व दिशा की ओर नहीं रखना चाहिए। इनका सर दक्षिण की तरफ और पैर उत्तर की तरफ होना चाहिए। इनको तेज नमक या मसालेदार खाना नहीं खाना चाहिए। और हां मीठा जरूर खिलाना चाहिए।
  • अगर किसी बहू को उसकी बातें अच्छी नहीं लगती हों। उनका हमेशा टोकना और हर काम में मीन-मेख निकालने से वह मानसिक तनाव में आ जाती हो। इस स्थिति में बहू सास के साथ मधुर संबंध बनाने के लिए रविवार की सुबह एक भोजपत्र ले। स्नान आदि से निपटकर उसपर लाल चंदन के बुरादे में पानी मिलाकर सास का नाम लिख दे। भोजपत्र को मोड़ कर उसे शहद की एक शीशी में डुबो दे। अगले दिन सूर्यास्त से पहले पीपल के पेड़ के नीचे भोजपत्र को जमनी में गाड़ दें। पीपल के सामने खड़े होकर सास के साथ संबंध मधुर होने की कामना करें और अपनी ओर प्रेभभाव दिखाने में कोई कमी नहीं रहने दें।
  • प्रतिदिन पहली रोटी गाय और आखिरी रोटी कुत्ते को खिलाने से भी सास प्रसन्न रहती है। कारण वह भी घर की सुख-समृद्धि के लिए अपनी सास के बताए अनुसार करती रही है। ऐसा कर वह एक तरह से अपनी सास की आज्ञा का पालन करती है। रोटी से संबंधित दूसरे टोटके के तौर पर रोटी बनाते समय तवा गर्म होने पर पहले उस पर ठंडे पानी के छींटे डाले और फिर रोटी बनाएं।
  • शनिवार का दिन सास-बहू के लिए सबसे शुभ माना जाता है। इस दिन दोनों को पीपल के पेड़ में जल देना चाहिए। खाना खाते समय डाइनिंग रूम की बजाय रसोई घर का इस्तेमाल करना चाहिए।
  • सास-बहू के आपसी झगड़े को कदम्ब के पेड़ की एक छोटी सी टहनी से दूर किया जा सकता है। इसे रविवार के दिन सोने से पहले अपने तकिए के नीचे रख देना चाहिए।
  • वास्तु शास्त्र के अुनसार सास और बहू के कमरे में झरने और नदियों की तस्वीर लगाई जानी चाहिए। घर की आंतरिक साज-सज्जा उनके बीच के रिश्तों में मधुरता लाती है। ज्योतिष द्वारा बताए गए विधिवत तरीके के अनुसार सास और बहू दोनों को गले में सफेद धागे में चांदी का चंद्रमा पहनना चाहिए। इसे सोमवार को दोनों के द्वारा एक-दूसरे को पहनाया जाना चाहिए।
  • घर में पति-पत्नी के सोने का कमरा अगर पश्चिम या दक्षिण दिशा में होना चाहिए तो सास-ससुर का कमरा दक्षिण-पश्चिम की दिशा में होना चाहिए। इसी तरह से घरेलू माहौल को शांतिमय बनाए रखने के लिए उत्तर-पूर्व दिशा में कूड़ेदान नहीं रखना चाहिए। इससे सास-बहू के बीच का संबंध प्रभावित होता है।  

पति से अपनी बात मनवाने के टोटके