परेशानिओ से छुटकारा पाने के उपाय

[Total: 9    Average: 5/5]

परेशानिओ से छुटकारा पाने के उपाय

 

इस दुनिया में ऐसा कोई शायद ही हो जो किसी न किसी वजह से परेशान नहीं है, कोई अपने घर को लेकर, कोई अपने घर के क़र्ज़ को लेकर, कोई घर के बड़ों-बुज़ुर्गों को लेकर और कोई घर से बेघर होने को लेकर। कुछ तो घर के त्याग को लेकर चिंतित रहते हैं। ऐसी दुनिया में अगर आप अपनी परेशानी का हल निकालने निकल पड़े हैं तो फिर अच्छा तो यही होगा की आप पहले यह अच्छी तरह से समझ लें की मुश्किलें मौसम की तरह हैं – वे आती जाती रहती हैं और उनका अंत नहीं है। आपको अभी नहीं तो आगे चलके कभी न कभी ऐसी मुश्किलों का सामना ज़रूर करना पड़ेगा।

परेशानिओ से छुटकारा पाने के उपाय
परेशानिओ से छुटकारा पाने के उपाय

अगर आप मानते हैं की अभी बचकर किसी और दिन ऐसी व्यवस्था से निपटा जायेगा – आप अपने कर्म बाद के लिए कर देना चाहते हैं, तो फिर आप ऐसा करें की हमारे द्वारा बताई हुई समस्यों के हलों में से अपनी परिस्थिति ढून्ढ कर आगे बढ़ें। अगर आप अपने जीवन से निराश हो गए हैं, अगर आप पाते हैं की आप की ज़िन्दगी की दौड़-भाग से बाहर निकलने का कोई रास्ता आपके पास अब नहीं है, अगर आपको लगता है की आप धीरे-धीरे परेशानियों से चारो ओर घिर गए हैं तो फिर ऐसा करें की बुधवार के दिन ४ किलो जौ लें और उसे एक लीटर दूध से धो दें, अब आप इस जौ को बहते पानी में प्रवहित कर दें – किसी पुल पर जाकर या फिर किसी नदी के किनारे जाकर।

यह एक बहुत ही कारगर और रामबाण जैसा तरीक़ा है और इसका काम करना ऑलमोस्ट पक्का होता है। आप बस यह कार्य निष्ठापूर्वक, बिना किसी को बताये और श्रद्धा में लीन होकर ही करें। अपने इष्ट देव को याद करें। अगर आप पाते हैं की आपके व्यापार में मंदी आने लगी है तो आप ऐसा करें की जब भी घर से निकालें तब एक लौंग मुंह में रख कर गणपति भगवन की कोई भी स्तुति, मंत्र या नाम ही सही, याद करें फिर उस लौंग को खा लें। अगर आप पाते हैं की आपको अपने इष्ट देवता का नाम नहीं पता तो आप किसी अच्छे ज्योतिषी के पास जायें और उससे अपनी कुंडली बनवा लें। अब उस बनी हुई कुंडली से यह देखें की आपके इष्ट देव कौन हैं।

अगर आप यह खुद नहीं समझ पाए तो फिर आप उसी ज्योतिषी से पूछें और उनके बताये हुए देवता का नाम याद कर लें। अब आप उस इष्ट देव की आराधना रोज़ करें, जब भी नौकरी या फिर व्यापर के लिए निकालें तब अपने इष्ट देव को याद करें, उनकी चालीसा, सप्तशती, मंत्र कुछ याद कर लें और फिर आप उनकी पूजा अपनी दूकान पर भी करवा सकते हैं। इससे आपको बहुत फायदा होना चाहिए। आप पाएंगे की लोग आपके व्यापर की ओर खींच रहे हैं और आप एक सफल जीवन की और बढ़ रहे हैं।

अगर आपकी परेशानी है, तो उसका इलाज भी है – आप ऐसा करें की दुर्गा माँ के शेर के ऊपर चुन्नी बांध दें और उसके गले में अपनी ख्वाहिश रख दें, अपनी मन्नत बता दें, आप पाएंगे की इसके बाद केवल रोज़ दुर्गा चालीसा जैसी सरल पुस्तक के पाठ से आप भक्ति में लीन हो रहे हैं और आपके काम इजाफा आने लगेगा। अगर आप पाते हैं की आपके ऊपर कर्ज़ा चढ़ गया है और वह उतरने का नाम नहीं ले रहा तो यह एक कठिन परिस्थिति है। अगर आप अपना ऋण न चुकाएं तो अलग-अलग तरह की कठिनाइयों से गुज़रना पड़ता है जैसे की लोगों की बातें सुननी पड़ती हैं, अगर बात बिगड़ जाये तो फिर मार-पीट पे उतर आना भी आम बात हो गयी है। आपको सतर्क रहना होगा। आपको अपने आपको और अपने करीबियों को ऐसी परिस्थितयों से बचाना होगा।

आप ऐसा करें की एक मीटर का सफ़ेद रंग वाला कपडा खरीद लाएं, अब आप पांच गुलाब के लाल फूल लें जिनमें से एक की भी पत्ती टूटी नहीं होनी चाहिए। अब आप ऐसा करें की एक एक फूल चरों कोनो पर बाँध दें और आखरी फूल लेकर चद्दर के बीच में बाँध दें। इस कपडे को शनिवार के दिन ले जाकर बहती नदी के पानी में प्रवाहित कर दें। एक और सफल उपाय जिससे आप अपने ऊपर चढ़े हुए ऋण को चूका सकते हैं है की आप एक ताम्बे का लोटा लें और उसमें जल भरकर प्रातः काल उठे, नहाए हुए होने पर उससे सूर्य को अर्घ दें। ३१ बीज लाल मिर्च के उसमें डाल दें और रविवार को उस मिर्च के बीजों से मिश्रित पानी से सूर्य को अर्घ दें।

अर्घ देने की विधि है की प्रातः काल हो, आप स्नान करके आये हों, आप लोटा कंधे की सिधायी तक उठा लें, दोनों हाथ सीधे सामने जिनमें लोटा है, अब आप जल धीरे धीरे सूर्य के गोले पर गिराएं। साथ में मंत्र बोलेें – ॐ रवि नमः, ॐ सूर्य नमः,  ॐ भूर्भुवः स्वः तत्स॑वि॒तुर्वरेण्यं॒ भर्गो॑ दे॒वस्य॑ धीमहि धियो॒ यो नः॑ प्रचो॒दया॑त् , ॐ घृणिं सूर्यायः आदित्यमु। अगर आपके घर में कलह है तो इसके लिए सबसे सीधा और सरल उपाय है की आप घर में एक शांति हवन करवा लें – इसके लिए आपको घर के पास किसी मंदिर में जाकर पंडित से बात करनी होगी। यह हवन कम से कम पैसों में भी हो जायेगा और ज्यादा असर के लिए ज्यादा में भी हो जायेगा।

अगर घर में कलह है और पैसे भी काम हों तो छोटी सी कथा करवा लें – लड्डू बटवा दें अंत में। अगर और भी कम में करना हो तो हकीक की माला लें। सवेरे प्रातः काल उठ जाएं, स्नान कर लें और उसके बाद सूर्य भगवन को अर्घ दे दें, इसके बाद में हकीक की माला लेकर पढ़ें “ ॐ लक्ष्मी नारायणं “ या फिर “  ॐ भूर्भुवः स्वः तत्स॑वि॒तुर्वरेण्यं॒ भर्गो॑ दे॒वस्य॑ धीमहि धियो॒ यो नः॑ प्रचो॒दया॑त् , ॐ घृणिं सूर्यायः आदित्यमु “

इस तरह हमने आपके समक्ष आज कुछ ऐसे नुस्खे रखे हैं जिनसे आप अपने जीवन में आने वाली बड़ी-छोटी सब दिक्कतों के लिए कुछ आध्यात्मिक उपाय कर सकते हैं। आपको यह उपाय आसान लगेंगे, सहज और सरल भी। अगर कोई शंका आये तो बे-झिझक किसी अच्छे ज्योतिषी से परामर्श कर लें।